जीवा संस्थान में सातवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन

फरीदाबाद। सेक्टर 21बी स्थित जीवा पब्लिक स्कूल एवं जीवाग्राम में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर तीन दिवसीय योग एवं आयुर्वेद के वर्चुअल शिविर का आयोजन अनोखे रूप में किया गया। इस आयोजन में विद्यालय के छात्रों, अध्यापकों, अभिभावकों ने भाग लिया।

Seventh International Yoga Day organized at Jiva Sansthan

जीवाग्राम में कार्यरत सभी लोगों एवं दिल्ली एन0 सी0 आर0 के कई बड़ी कम्पनियों जैसे एस्कॉर्टस कुवोटा प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में कार्यरत लोगों को भी योग सेशन दिया गया।

इसके साथ देश के विभिन्न शहरों में स्थित 80 जीवा संस्थानों में कार्यरत सभी लोगों ने भी सबके साथ वर्चुअल इस शिविर में भाग लिया।

शिविर में प्रथम दो दिन में वार्मअप सेशन किया गया एवं योगाचार्य जी के साथ योग की क्रियाएँ की गई। 21 जून की प्रातः जीवाग्राम में अंतराष्टड्ढ्रीय स्तर पर योग दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सर्वप्रथम योग की विशेषता एवं महत्व के विषय में बताया गया। इसके बाद भाग लेने वाले सभी लोगों का अभिवादन किया गया।

जीवा स्कूल के अध्यक्ष ऋषिपाल चौहान, जीवा आयुर्वेद संस्थान के अध्यक्ष डॉ0 प्रताप चौहान एवं योग आचार्य रविशंकर भट्ट जी का भी परिचय दिया गया। ऋषिपाल चौहान ने योग के महत्व को बताते हुए कहा “योग से मनुष्य के मन एवं मस्तिष्क में अद्भुत शांति प्राप्त होती है, जब मनुष्य का मन शान्त होता है तो उसके विचार भी शुद्ध होते हैं। बच्चों के लिए योग का बहुत महत्व है। छात्र योग से ध्यान केन्द्रित कर अपनी क्षमताओं को और अधिक प्रबल बना सकते हैं।”

इस आयोजन में जीवाग्राम की इंटरनेशनल प्रोग्राम हेड काजल चौहान का विशेष रूप से योगदान रहा।

शिविर के माध्यम से सबको योग एवं आयुर्वेद दोनों के लाभों से अवगत किया गया है। यह शिविर प्रातरू 6 से 7ण्30 बजे तक के लिए आयोजित किया गया, जिसमें अनेक लोग लाभान्वित हुए।

विद्यालय के फिजिकल एजुकेशन के अध्यापक जीतेंद्र नागर ने सभी को वार्मअप सेशन दिया व सबको फिट रहने के तरीके बताए। तदुपरांत जीवाग्राम के योग आचार्य रविशंकर भट्ट जी ने अनेक प्रकार के योग आसन किए।

उन्होंने सभी आसनों के लाभ भी बताए एवं उनको करने के तरीकों से भी अवगत करवाया। साथ ही अनेक प्रकार के रोगों जैसे उच्च रक्तचाप, मधुमेह, अवसाद, अनिंद्रा जैसी अन्य अनेक बीमारियों के निवारण हेतु आसन भी बताए। छात्रों, अध्यापकों, अभिभावकों व अन्य अनेक लोगों ने वर्चुअली एक साथ इस अद्भुत कार्यक्रम का लाभ प्राप्त किया।

इस अवसर पर जीवा आयुर्वेद के डायरेक्टर डॉ0 प्रताप चौहान का भी एक विशेष सत्र रखा गया, जिसमें उन्होंने आयुर्वेद के माध्यम से स्वास्थ्य संबंधी अनेक समस्याओं के विषय में जानकारी दी। लोगों ने इस अवसर पर उनसे प्रश्न पूछे। डॉ0 प्रताप चौहान ने सभी की शंकाओं का निवारण किया।

जीवा आयुर्वेद संस्थान का इस महामारी के दौरान एवं उपरांत सराहनीय योगदान रहा है। देश के अनेक शहरों में स्थित जीवा क्लिनिक के डॉक्टर्स फोन कॉल के माध्यम से भी लोगों को सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।

इस अवसर पर जीवा शिक्षण संस्थान के अध्यक्ष ऋषिपाल चौहान और उपाध्यक्ष चंद्रलता चौहान भी शिविर के सभी कार्यक्रमों में सक्रिय रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम में ऋषिपाल चौहान का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा। शिविर में प्रशासनिका मुक्ता सचदेव एवं प्रधानाचार्य अपर्णा शर्मा भी उपस्थित रहीं।

Related posts

Leave a Comment