“जीवा हेल्थ वीक” में रोगियों को मिलेगा निशुल्क परामर्श

फरीदाबाद।  जहाँ आज के लोगों के लिए स्वास्थ्य चिंता का एक प्रमुख विषय है वही दुनिया के प्रमुख आयुर्वेद उपचार संस्थानों में से एक, ‘जीवा आयर्वेद’, देश भर में स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं पर निरूशुल्क परामर्श दे रहा है। देश भर मे 18 अगस्त तक जीवा आयुर्वेद के 80 से ज्यादा क्लिनिक में निरूशुल्क परामर्श देने की योजना है। इस अभियान से 50,000 से ज्यादा लोगों को लाभ मिलने की उम्मीद है।

Patients will get free consultation in “Jiva Health Week”

तीन दशकों के अनुभव के साथ, जीवा आयुर्वेद के विशेषज्ञ डाइट चार्ट और जीवनशैली पर मार्गदर्शन के साथ-साथ रोग के मूल कारणों के आधार पर व्यक्तिगत उपचार प्रदान करते हैं।

अगर आप उपचार कराते हैं, तो आपको जीवा आयुर्वेद के अनुभवी डॉक्टर द्वारा स्वास्थ्य संबंधी निरूशुल्क परामर्श दिया जाएगा। यह निरूशुल्क परामर्श सुविधा तीन महीने की अवधि तक मान्य होगी। इसके साथ ही, क्लीनिक पर कुछ जीवा हेल्थ और वैलबिंग प्रोडक्ट जैसे शहद, च्यवनप्राश, शैम्पू, आयुर्वेदिक चाय और अन्य चीजों पर 18 प्रतिशत तक की छूट भी मिलेगी। इसके अलावा, ऑफर के एक हिस्से के रूप में, अगले महीने के उपचार पैक पर भी 10 प्रतिशत की छूट मिलेगी।

जीवा आयुर्वेद के डायरेक्टर, डॉ. प्रताप चौहान ने कहा “कोविड19 की दूसरी लहर के बाद, पिछले कुछ महीने हम सभी के लिए बहुत मुश्किल भरे रहे हैं। कोविड महामारी की चपेट में आए कई लोग ठीक तो हुए हैं, लेकिन संक्रमण से मुक्त होने के बाद भी वह पूरी तरह स्वस्थ नहीं हो पाए हैं। दरअसल, संक्रमण से ठीक होने के बाद उन्हें सांस लेने में कठिनाई, शरीर के विभिन्न अंगों में कमजोरी, पाचन की समस्या, मानसिक तनाव, डिप्रेशन, प्रतिरक्षा क्षमता में कमी के साथ ही ताकत और ऊर्जा में कमी जैसे दुष्प्रभावों का सामना करना पड़ रहा है। एक व्यक्ति ठीक होने के 2-3 महीने बाद भी कोविड के बाद के दुष्प्रभाव हो सकते हैं। सिरदर्द, बालों का झड़ना, थकान, जी मिचलाना, खांसी, शरीर में दर्द और दिल में घबराहट जैसी समस्याएं सबसे ज्यादा देखी गई हैं। आयुर्वेद आपकी इन समस्याओं का जड़ से इलाज कर सकता है। जीवा आयुर्वेद 06 अगस्त से 18 अगस्त तक “जीवा हेल्थ वीक” प्रोग्राम का आयोजन कर रहा है। हम आपको अपने नजदीकी जीवा क्लिनिक पर विजिट करने और हमारे विशेषज्ञ आयुर्वेदिक डॉक्टरों से निरूशुल्क स्वास्थ्य परामर्श लेने के लिए आमंत्रित करते हैं। आयुर्वेद को अपनाने और रोजाना योग करने से अधिकांश समस्याओं को ठीक करने में मदद मिल सकती है और स्वस्थ जीवन शैली को बनाए रखा जा सकता है। सुरक्षित रहें और स्वस्थ रहें।”

आयुर्वेद, दुनिया की सबसे पुरानी चिकित्सा पद्धतियों में से एक है और इसका विकास भारत में 3,000 सालों से भी पहले हुआ था। आयुर्वेद किसी भी बीमारी का जड़ से इलाज करता है और व्यक्ति को लंबे समय तक समस्या से राहत दिलाता है। 500 से भी ज्यादा प्रमाणित आयुर्वेदिक डॉक्टरों की टीम हर दिन 8,000 से अधिक रोगियों को परामर्श देती है और इससे अब तक 15 लाख रोगियों का सफलतापूर्वक इलाज कर चुकी है। जीवा आयुर्वेद अपने मरीजों को एक प्रोटोकॉल और डेटा के आधार पर रोग निदान और उपचार प्रदान करता है। 13 दिवसीय “जीवा हेल्थ वीक” ज्यादा से ज्यादा लोगों को उनके स्वास्थ्य रोगों के लिए प्रामाणिक आयुर्वेद उपचार प्रदान करेगा, क्योंकि जीवा हर किसी के लिए व्यक्तिगत उपचार के साथ सही मायने में आयुर्वेद की डिलीवरी को सक्षम बनाता है, जिनकी चिकित्सा के इस्तेमाल और जीवनशैली में बदलाव के जरिये ‘स्वास्थ्य लाभ’ प्राप्त करने में सहायता मिलती है।

Related posts

Leave a Comment