फरीदाबाद में पीड़ित पुलिस के ट्विटर हैंडल पर कर सकेगा शिकायत

फरीदाबाद। पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने पुलिस और समाज के लोगों के बीच अच्छा संबंध स्थापित करने की अपनी पहल के चलते समाज में अच्छा प्रभाव रखने वाले प्रत्येक थाने से आए व्यक्तियों से अपने ऑफिस सेक्टर 21ए में समन्वय स्थापित किया। ओपी सिंह ने कहा कि अब शिकायतकर्ता अपनी शिकायत फरीदाबाद पुलिस के ट्विटर हैंडल पर भी कर सकेंगे। इस पर पूरी गंभीरता से सुनवाई की जाएगी।

Victim in Faridabad can complain on Twitter handle of police

Faridabad. Police commissioner OP Singh, in his initiative to establish good relations between the police and the people of the society, coordinated with the persons from each police station having good influence in the society in their office sector 21A. OP Singh said that now the complainants will also be able to make their complaint on the Twitter handle of Faridabad Police. This will be heard with full seriousness.

इस मीटिंग में फरीदाबाद के प्रत्येक थाने से एक व्यक्ति मौजूद रहा। इसमें फरीदाबाद के लगभग 25 व्यक्ति मौजूद थे जिनमें गांव के सरपंच, नगर के पार्षद, समाज सेवक, सामाजिक संस्थाओं के अध्यक्ष, किसान इत्यादि शामिल थे, जिन्होंने अपने विचार पुलिस कमिश्नर के सामने रखे।

पुलिस कमिश्नर ने लोगों से वार्तालाप की उनकी समस्याएं सुनीं और उन्हें उनकी समस्याओं के निवारण का आश्वासन भी दिया।

ओपी सिंह ने बताया कि बेहतर समाज का निर्माण करने के लिए पुलिस और जनता का सहयोग अति महत्वपूर्ण है। एक तरफ जहाँ पुलिस का कर्तव्य है कि वह अपने नागरिकों की हर संभव सहायता करे और विपरीत परिस्थितियों में उनकी रक्षा करने के लिए हमेशा उनके साथ खड़ी रहे, वहीं दूसरी ओर लोगों की भी समाज का हिस्सा होने के नाते यह जिम्मेवारी बनती है कि वह पुलिस प्रशासन की हर संभव सहायता करे जिससे एक आदर्श समाज की स्थापना की जा सके।

ओपी सिंह ने बताया कि हमें एक ऐसे समाज की स्थापना कर सकते हैं, जहां पुलिस और जनता एक साथ मिलकर समाज में घटित होने वाले अपराधों पर अंकुश लगा सकती है। पुलिस और जनता का सहयोग एक अच्छे समाज के निर्माण में अहम योगदान प्रदान करता है।

पुलिस और जनता की भागीदारी समाज को एक नई दिशा प्रदान करती है।पुलिस और जनता को मिलकर सामाजिक कार्यों में एक दूसरे का सहयोग करना चाहिए। इसी के तहत समाज में अपराधों पर अंकुश लगाया जा सकता है और समाज की आधारभूत आवश्यकताओं को पूरा किया जा सकता है

सिंह ने बताया कि लोगों को अपने मामूली आपसी झगड़ों को मिल बैठकर सुलझा लेना चाहिए जिससे कि समाज में शांति व्यवस्था कायम रह सके। यही छोटे छोटे झगड़े यदि एक बार थाने तक पहुँच जाते हैं, तो फिर मामला बढ़ जाता है तथा आपसी रिश्तों खराब होते हैं। दो पार्टियां बन जाती हैं। गांव समाज का अमन-चैन छिन जाता है। फिर यही झगड़े जब कोट कचहरी तक पहुंचते हैं समय और पैसे की बर्बादी तो होती ही है , केस के निपटारे में सालों लग जाते हैं।

छोटे झगड़े अनेक समस्याओं को जन्म देते हैं

उन्होंने कहा कि अछे लोगों को समाधान का हिस्सा बनना चाहिए। अपने आचार विचार और व्यव्हार को सही दिशा में लगायें। हम अगर किसी का अच्छा नहीं कर सकते, तो किसी का बुरा भी न करें। लोगों को मुकदमाबाजी से बचाएं। हमारे समाज को स्वच्छ रखना, अपराध मुक्त रखना, हमारी सांस्कृतिक परम्परा को बनाए रखना हमारी जिम्मेवारी है। नौजवानों को गलत रास्ते पर भटकने से बचाएं, उन्हें अपना लक्ष्य प्राप्त करने में हर संभव सहायता करें।

इस मीटिंग में सैनिक पुब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल महेंद्र सिंह, नीमका के अजीत सरपंच, जवाहर कॉलोनी के मार्केट प्रधान बूटा सिंह, समयपुर के नम्बरदार आनंद, एनआईटी-3 के प्रीतम सिंह, तिलक नगर के राजकुमार, भगत सिंह कॉलोनी के बालकिशन, सेक्टर 15 के अशोक मलिक, सराय ख्वाजा के धीरज गोयल, सेक्टर 31 के लालचन्द शर्मा, ओल्ड फरीदाबाद के राजेश अरोड़ा, बदरपूर सैद के कुलदीप, एनआईटी-5 के रजत जसवाल, एसी नगर के नीरज, अनंगपुर के सुबोध बढ़ाना, रामनगर के धर्मपाल, धौज के दयाराम, भारत कॉलोनी के कमल, सेक्टर 17 के विजय गौड़, खेड़ीकलां के विजयपाल मौजूद रहे।

पुलिस कमिश्नर द्वारा नीरज मावी व सरपंच योगेन्द्र को लोगों को किए गए अच्छे कार्यों के लिए प्रशंसा पत्र दिया जाएगा।

नीरज ने लॉकडाउन के दौरान सरकार द्वारा गरीबों की आर्थिक सहायता के लिए चलाई गई महतवपूर्ण योजनाओं के बारे में लोगों को जागरूक किया।

वहीं सरपंच योगेन्द्र ने खेल कूद को प्रोत्साहन देने के लिए अपने गाँव में नौजवानों के खेलने के लिए ग्राउंड और खेल कूद के संसाधनों की व्यवस्था की।

 

Related posts

Leave a Comment