दशहरा पर्व बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीकः विजय प्रताप

फरीदाबाद। नवरात्रों के अवसर पर एनएच एक स्थित एच ब्लॉक में आयोजित लंका दहन के भव्य कार्यक्रम में बड़खल के कांग्रेसी प्रत्याशी रहे कुंवर विजय प्रताप सिंह ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की और स्वयं अपने हाथों से लंका दहन किया।

Dussehra festival marks the victory of good over evil: Vijay Pratap

उन्होंने लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि दशहरा पर्व बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। महापुरुषों के अनुसार हमारे अंदर बुरे और अच्छे विचार दोनों चलते हैं। जो बुरे विचार होते हैं, वो रावण हैं और जो अच्छे विचार होतेे हैं, वो राम है। इसलिए हमें इन बुरे विचारों पर काबू करना है और अपने अंदर अच्छे विचार पैदा करने हैं। हर वर्ष भारी उत्साह एवं शानदार तरीके से नवरात्रों में कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। रामायण हिन्दुस्तान की आत्मा। कोई भी संस्कृति पूरी दुनिया में इतनी महान नहीं, जितनी भारतीय संस्कृति। इसमें भी रामायण का अद्वितीय स्थान है।

उन्होंने टाउनशिप के लोगों की तारीफ करते हुए कहा कि जितने सामाजिक एवं धार्मिक कार्यक्रम टाउन में होते हैं, उतने पूरे भारत में कहीं नहीं होते। मगर, हमारे शहर के लिए बड़े दुख की बात है कि हमारे धार्मिक आयोजन भी आज हमें नहीं मनाने दिए जा रहे हैं। हमारे शहर की सबसे बड़ शोभा दशहरा मैदान में रावण दहन का था। मगर, पिछले 7 सालों से दशहरा नहीं मनाने दिया जा रहा है। पूरे प्रदेश में, पूरे देश में दशहरा पर्व मनाया जा रहा है, लेकिन फरीदाबाद में शोभा यात्रा भी नहीं निकलने दी गई।

उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं ने न तो शहर में विकास किए और न ही हमारे धार्मिक त्यौहार ही हमें मनाने दिया जा रहा है। ऐसा लगता है कि इनके पुराने सदकर्म अभी बाकी हैं और इनके पाप का घड़ा अभी भरा नहीं है। मैं चाहता हूं कि भगवान राम इनका सद्बुद्धि दे। इस अवसर पर विजय प्रताप ने कमेटी को 51 हजार रुपए का सहयोग दिया। कार्यक्रम में उनके साथ पुनीत पंडित, इशांत कथूरिया, विपिन, राकेश एवं अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Related posts

Leave a Comment